Category: Sad Poetry

Kaash Mere Wajud Mein AAP Utar Jaaye 0

Kaash Mere Wajud Mein AAP Utar Jaaye

Kaash Mere Wajud Mein AAP Utar Jaaye, Main Dekhu Aaina Aur AAP Nazar Aaye. AAP Ho Samne Toh Waqt Thahar Jaaye, Aur AAPKO Dekhte-Dekhte Zindagi Guzar Jaaye……..

तेजाब के हमले में घायल एक लड़की के दिल से निकलीं कुछ पंक्तियाँ 0

तेजाब के हमले में घायल एक लड़की के दिल से निकलीं कुछ पंक्तियाँ

तेजाब के हमले में घायल एक लड़की के दिल से निकलीं कुछ पंक्तियाँ ———————————————————— चलो, फेंक दिया सो फेंक दिया…. अब कसूर भी बता दो मेरा तुम्हारा इजहार था मेरा इन्कार था बस इतनी...

0

इश्क़ दर्द है

सबने कहा इश्क़ दर्द है; हमने कहा यह दर्द भी क़बूल है; सबने कहा इस दर्द के साथ जी नहीं पाओगे; हमने कहा इस दर्द के साथ मरना भी क़बूल है।

आज भी सूना पड़ा है हर एक मंज़र 0

आज भी सूना पड़ा है हर एक मंज़र

आज भी सूना पड़ा है हर एक मंज़र; तेरे जाने से सब कुछ वीरान लगता है; उस रास्ते पे आज भी हम तेरी राह देखते हैं; जहाँ से तेरा लौट आना आसान लगता है।

Itna kuch khoya ki hame pana na aaya 0

Itna kuch khoya ki hame pana na aaya

Itna kuch khoya ki hame pana na aaya, Pyar kiya to jatana na aaya, Dilme bas gaye pehli hi nazar me woh, Kasur hamara hi tha jo hame nazar jhukana na aaya.

0

ऐ चाँद तू किस मजहब का है !! ईद भी तेरी और करवाचौथ भी तेरा!

बैठ जाता हूं मिट्टी पे अक्सर… क्योंकि मुझे अपनी औकात अच्छी लगती है.. मैंने समंदर से सीखा है जीने का सलीक़ा, चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना ।। चाहता तो हु की...