Category: Entertainment

मैंने तुमको गीता दी थी पढ़ने के लिए क्या तुमने गीता पढ़ी ? 0

मैंने तुमको गीता दी थी पढ़ने के लिए क्या तुमने गीता पढ़ी ?

पिता : ओ बेवकूफ़। मैंने तुमको गीता दी थी पढ़ने के लिए क्या तुमने गीता पढ़ी ? कुछ। दिमाग मे घुसा। पुत्र : हाँ पिताजी पढ़ ली। और अब आप । मरने के लिए...

0

हे इंद्रदेव

हे इंद्रदेव _/\_ अगर होली में पानी बरसाना इतना ही जरुरी था 🙂 तो बादल में दस बीस रूपये का रंग ही घोल देते 😉 हमारी होली हो जाती और आप का काम

0

चल आयत सुना

आतंकवादी : चल आयत सुना नहीं तो गोली मार दूंगा विद्यार्थी : “ऐसा चतुर्भुज जिसकी आमने सामने की भुजाएँ समान हो किन्तु लम्बाई चौड़ाई से अधिक हो तथा प्रत्येक कोण 90 डिग्री का हो,...

मुहावरो के आधुनिक अर्थ 0

मुहावरो के आधुनिक अर्थ

मुहावरो के आधुनिक अर्थ… 1. सुख की जान दुःख में डालना = शादी करना 2. आ बैल मुझे मार = पत्नी से पंगा लेना 3. दीवार से सर फोड़ना = पत्नी को कुछ समझाना...

0

इंटरनेट का अविष्कार

निगाहे 👀 आज ढुंढ रही,…उस महान विचारक को जिसने बरसो पहले कहा था,……. “इंटरनेट का अविष्कार,…..लोगो का समय बचाएगा”😝😝😝

भाई, बाल कटवाने हैं, कितना समय लगेगा ? 0

भाई, बाल कटवाने हैं, कितना समय लगेगा ?

एक आदमी एक नाई की दूकान में घुसा और पूछा – “भाई, बाल कटवाने हैं, कितना समय लगेगा ?” दूकान में पहले ही भीड़ थी सो नाई बोला – “लगभग तीन घंटे.” आदमी यह...

0

आधी रात को फोन बजा।

आधी रात को फोन बजा। फोन एक लड़की का था। Me- हैलो कौन ? लड़की – मैं तैनूं समझावां की, न तेरे बिना लगदा जी Me- (खुश होकर ) – तो मुझसे शादी करोगी...

NOTHING IS IMPOSSIBLE! 0

NOTHING IS IMPOSSIBLE!

In 1980, IDBI Bank rejected LOAN for Ambani. Now in 2014, Mukesh Ambani is planning 2 buy IDBI Bank. Morale : NOTHING IS IMPOSSIBLE! In 2014, SBI Bank rejected Loan for me. But, in...

0

हरियाणवी कुवाँरा

हरियाणवी कुवाँरा ब्याह न होने के कारण दुखी होकर अपने दोस्त से बोला- “मनैं तो कई बार यू लागै . . कि मेरी वाली तो भ्रुण हत्या में मारी गई..” 😀

0

जाने कभी गुलाब लगती हे, जाने कभी शबाब लगती हे

जाने कभी गुलाब लगती हे जाने कभी शबाब लगती हे तेरी आखें ही हमें बहारों का ख्बाब लगती हे में पिए रहु या न पिए रहु, लड़खड़ाकर ही चलता हु क्योकि तेरी गली कि...

0

Students of UP

Up के छात्र – साहब बिजली नही आती इसलिये पढाई नही हो पा रही Mulayam Singh – मैं कुछ इंतज़ाम करता हूँ छात्र – बिजली का ? Mulayam- नही डिग्री का

Everyone seems to be in such a hurry to scream ‘racism’ these days. 0

Everyone seems to be in such a hurry to scream ‘racism’ these days.

Everyone seems to be in such a hurry to scream ‘racism’ these days. In London, a customer asked,”Do you have “Sarso Da Tel?” The shopkeeper says “are you a “Sardar”? The guy, clearly offended,...