हे इंद्रदेव

हे इंद्रदेव _/\_

अगर होली में पानी बरसाना इतना ही जरुरी था 🙂
तो बादल में दस बीस रूपये का रंग ही घोल देते 😉

हमारी होली हो जाती और आप का काम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *