चार लाइने दोस्तों के नाम

*💞चार लाइने दोस्तों के नाम💞*

*”काश फिर मिलने की वजह मिल जाए!*
*”साथ जितना भी बिताया वो पल मिल जाए!*
*”चलो अपनी अपनी आँखें बंद कर लें!*
*”क्या पता ख़्वाबों में गुज़रा हुआ कल मिल जाए!*
*”मौसम को जो महका दे उसे ‘इत्र’ कहते हैं!*
*”जीवन को जो महका दे उसे ही ‘मित्र’ कहते है!*
*”क्यूँ मुश्किलों में साथ देते हैं “दोस्त”*
*”क्यूँ गम को बाँट लेते हैं “दोस्त”*
*”न रिश्ता खून का न रिवाज से बंधा है!*
*”फिर भी ज़िन्दगी भर का साथ देते हैं “दोस्त”।*

मित्रो को समर्पित
🙏🙏🙏🙏🙏

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *